पित्त की पथरी के जानिए क्या है लक्षण, कारण और घरेलु उपचार ?

पित्ताशय की पथरी से कैसे करें खुद का बचाव !
gallstones

पित्त की पथरी के जानिए क्या है लक्षण, कारण और घरेलु उपचार ?

  • July 31, 2023

  • 72 Views

पित्ताशय की पथरी व्यक्ति के अंदर काफी गंभीर समस्या है और ये रह-रह कर बनने वाले दर्द के सामान होता है। वहीं इस तरह के दर्द का होना व्यक्ति के लिए काफी मुश्किल भी खड़ी कर सकता है। इसके अलावा पित्त की पथरी का आयुर्वेद में किस तरह से इलाज किया जाता है और कैसे हम इसके कारण व लक्षण जान कर इस तरह की समस्या से खुद का बचाव कर सकते है, इसके बारे में आज के लेख में चर्चा करेंगे ;

क्या है पित्त की पथरी ?

  • बहुत से अनुभवी डॉक्टरों का कहना है की ये समस्या ज्यादातर मध्य आयुवर्ग के लोगों को होती है लेकिन आजकल छोटी उम्र के लोग भी इसकी चपेट में आ रहे है। 
  • पित्ताशय में पथरी की बात करें तो ये कोलेस्ट्रॉल, पित्त और लवणों से बनी होती है। पित्त, लवण लिवर में उत्पन्न होने वाले पाचन तत्व है, जब ये शरीर से बाहर नहीं निकल पाते है तो सख्त होकर पथरी का रूप ले लेते है। दरअसल जब लिवर में तरल पदार्थों की मात्रा कम होने लगती है, तो इसमें मौजूद नमक और अन्य न्यूट्रिएट तत्व जमा होकर छोटे-छोट पत्थर के टुकड़ों का रूप ले लेते है, जिन्हें गॉलस्टोन कहा जाता है। 

पित्ताशय में पथरी होने के बारे में अगर आप विस्तार से जानना चाहते है तो इसके लिए आप बेस्ट आयुर्वेदिक डॉक्टर का चयन कर सकते है।

पित्ताशय में पथरी के कारण क्या है? 

  • गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने के कारण। 
  • पित्त से लवण न निकल पाने के कारण। 
  • शारीरिक रूप से सक्रिय न हो पाने के कारण। 
  • यदि आपका पित्ताशय पूरी तरह से या अक्सर पर्याप्त रूप से खाली नहीं होता है, तो पित्ताशय की पथरी विकसित हो सकती है, जिसके परिणामस्वरूप केंद्रित पित्त का निर्माण होता है।

लक्षण क्या है पित्ताशय में पथरी के ?

  • पेट के दाहिने हिस्से में तेज दर्द का अनुभव होना। 
  • उल्टी की समस्या का सामना करना। 
  • सीने में जलन की समस्या। 
  • पेट का भारीपन मेहसूस होना। 
  • अपच और खट्टी डकार की समस्या का सामना करना।

अगर आप पित्त की पथरी के कारण बहुत ज्यादा परेशान है, तो इससे बचाव के लिए आपको पित्त की पथरी के विशेषज्ञ के पास जाना चाहिए।

पित्त की पथरी से निजात पाने के लिए बेहतरीन घरेलु उपाय !

  • नीम और बड़ी इलायची के चूर्ण को मिलकर लेने से आप पथरी की समस्या से निजात पा सकते है।   
  • नारियल का पानी पीने से भी आप पित्ताशय की पथरी से छुटकारा पा सकते है। 
  • भुट्टे के रेशों को पानी में उबालकर इसका पानी पिएं। इससे कुछ ही दिनों में पित्ताशय की पथरी ठीक हो सकती है।
  • एलोवेरा का सेवन भी आपके अंदर उत्पन्न पित्त की पथरी को ठीक करने में काफी सहायक मानी जाती है। 
  • नींबू का रस भी आपके पथरी को तोड़ने में काफी सहायक माना जाता है। 
  • हल्दी का चूर्ण भी आपको पथरी की समस्या से लड़ने में काफी मदद करता है।
  • अगर आप पथरी की समस्या का सामना कर रहें है तो इससे बचाव के लिए आपको अदरक के रस का भी सेवन करना चाहिए।
  • इनके अलावा आप पाइनएप्पल जूस, करेला, गाजर, केला, बादाम का सेवन भी कर सकते है।

पित्त की पथरी होने पर किन बातों का रखें खास ध्यान ?

  • कब्ज की समस्या बिल्कुल न होने दें।
  • कोलेस्ट्रोल की मात्रा न बढ़ने दें।
  • तला-भुना बिलकुल न खाएं। 
  • हल्का भोजन लें।
  • पानी खूब पिएं।
  • वजन बढ़ा हुआ है, तो वजन घटाएं।
  • धूम्रपान करने से बचें। 
  • गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से बचें।

 

पथरी के इलाज के लिए बेस्ट क्लिनिक !

पित्ताशय में पथरी की समस्या से अगर आप बहुत ज्यादा परेशान है तो इससे बचाव के लिए आपको संजीवनी आयुर्वेदशाला क्लिनिक के अनुभवी आयुर्वेदाचार्य या डॉक्टर के संपर्क में आना चाहिए। 

 

निष्कर्ष :

पित्त में पथरी के गंभीर लक्षण दिखने पर आपको जल्द इसके उपचार को करवाने के लिए अनुभवी डॉक्टर का चयन करना चाहिए।