आयुर्वेद में है सभी रोगों का बेहतरीन उपचार !

Uncategorized

आयुर्वेद में है सभी रोगों का बेहतरीन उपचार !

  • February 18, 2024

  • 61 Views

आयुर्वेद की दवाइयां पुरातन समय से ही चलती आ रही है और लोगों का इस दवाई पर काफी यकीन भी होता है, शायद लोगों के यकीन की वजह से ही ये दवाई आज तक भी चलती आ रही है और लोगों पर इस दवाई का असर भी काफी अच्छा होता है। इसके अलावा इस दवाई का क्या फ़ायदा है और साथ ही क्या सभी प्रकार के रोगो का इसमें इलाज है या नहीं इसके बारे में भी बात करेंगे, तो शुरुआत करते है आर्टिकल की ;

आयुर्वेद की दवाइयां क्या है ?

  • आयुर्वेद में दवाइयां पुराने समय से ही चलती आ रही है और इस दवाई का असर लोगों पर काफी अच्छा भी होता है अगर लोग उस चीज पर यकीन करें तो।
  • तो वही आयुर्वेदिक दवाएं पौधों, जानवरों के अर्क और खनिजों पर आधारित हैं, दोनों एकल घटक दवाओं और यौगिक योगों में हैं, हालांकि, आयुर्वेद किसी भी पदार्थ को दवा के संभावित स्रोत के रूप में उपयोग करने से इंकार नहीं करता है।
  • तो वही आयुर्वेद में कहा जाता है कि इस धरती पर पाई जाने वाली हरेक जड़, पत्ता, पेड़ की छाल का औषधीय गुण जरूर है।

आयुर्वेद दवाइयों के बारे में और विस्तार से जानने के लिए बेस्ट आयुर्वेदिक डॉक्टर का चयन जरूर से करें।

आयुर्वेद में कौन-कौन सी बीमारियों की दवा मौजूद है ?

 आयुर्वेद में ये बात निर्भर करती है की व्यक्ति की बीमार कैसी है।

  • वही आयुर्वेद में व्यक्ति को किसी भी तरह की दवाई को खुद से नहीं लेना चाहिए बिना डॉक्टर के परामर्श से।
  • आयुर्वेद में डायबटीज, हाई ब्लड प्रेशर, पेट संबंधी हर तरह की बीमारियों का हल है।

अगर आप चाहे तो इन बीमारियों से संबंधित दवाइयां बेस्ट आयुर्वेदिक क्लिनिक से भी ले सकते है।

क्या आयुर्वेद में सभी बीमारियों की बेहतरीन दवाई है ?

  • आयुर्वेद में सभी बीमारियों की दवाई मौजूद है लेकिन हां अगर आपकी बीमारी ज्यादा जटिल है तो इसके लिए आपको एलोपैथी दवाई का चुनाव करना चाहिए।
  • दूसरी और आप एलोपैथी दवाई के साथ आयुर्वेद दवाई को भी जारी रख सकते है क्युकी अंग्रेजी दवाई आपकी बीमारी को मौजूदा हालात में सही कर देगी और साथ ही अगर आप आयुर्वेदिक दवाई का प्रयोग कर रहे है तो ये दवाई आपकी बीमारी का जड़ से खात्मा करने में काफी सहायक साबित होती है।

 आयुर्वेदिक दवाइयों को लेने का उचित समय क्या है ?

  • आयुर्वेदिक या अन्य किसी भी दवाई, को लेने के लिए पेट का ‘दिमाग की सही अवस्था’ में होना आवश्यक है।
  • इन दवाइयों को लेने की बात करे तो सूर्योदय के समय, दिन के समय भोजन करते समय, शाम के भोजन करते समय और रात में इन दवाओं को लेने का सही समय तय माना जाता है।
  • अगर आपने आयुर्वेदिक दवाई लेने की शुरुआत कर दी है तो जब तक इसका पूरा डोस ख़त्म न हो जाए तब तक इसको न छोड़े।

अगर आप भी आयुर्वेद के जरिये अपनी दवाई करवाने की शुरुआत करना चाहते है तो इसके लिए आपको उपरोक्त बातो का खास ध्यान रखना है और इसके उपचार के लिए आपको संजीवनी आयुर्वेदशाला क्लिनिक का चयन करना है। लेकिन ध्यान रहे किसी भी तरह की दवाई का सेवन खुद से ना करें।

निष्कर्ष :

दवाई चाहें आयुर्वेदिक हो या एलोपैथिक हो इसमें बस इस बात का ध्यान रखना है कि इसको प्रयोग में लेने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह ले।

AyurvedicUncategorized

Unlocking the Power of Ayurveda for Effective PCOS Treatment

  • January 16, 2024

  • 128 Views

PCOS, also known as polycystic ovarian syndrome, is a common hormonal disorder that affects a large number of women. It can produce a variety of symptoms, including irregular periods, acne, weight gain, and hair loss. PCOS, if left untreated, can lead to more serious health issues such as infertility and diabetes. Fortunately, Ayurveda has excellent PCOS treatment alternatives that can help restore body balance and ease symptoms.

Our team of experts Ayurvedic doctor in Punjab at Sanjivani Ayurvedshala has helped many ladies overcome PCOS by utilizing natural, holistic therapies. Here’s how Ayurveda might help you maximize the effectiveness of PCOS treatment in Ludhiana.

Understanding PCOS According to Ayurveda

In Ayurvedic medicine, PCOS is known as “artava kshaya,” and that implies a deficiency or depletion of menstrual blood. This is believed to be brought about by an imbalance in the doshas, or energies, that control the body’s capabilities. In particular, PCOS is believed to be connected with an abundance of the Kapha dosha, which can cause congestion and stagnation in the reproductive system.

To treat PCOS, Ayurveda focuses around reestablishing balance to the doshas and working on in overall health and vitality. This might include a blend of dietary changes, lifestyle modifications, herbal remedies, and other normal treatments.

Dietary Recommendations for PCOS Treatment in Ludhiana

One of the important principles of Ayurveda is that food is medicine. This implies that the food sources you eat can significantly affect your health and prosperity. For ladies with PCOS, Ayurvedic dietary recommendations might include:

  • Eating warm, cooked food varieties that are easy to digest
  • Staying away from cold, raw, and processed foods varieties
  • Restricting sugar, caffeine, and liquor
  • Eating different new leafy foods
  • Integrating spices and herbs like turmeric, ginger, and cumin into dinners

Lifestyle Modifications for PCOS Treatment

In addition to dietary changes, Ayurveda also accentuates the significance of lifestyle modifications for PCOS treatment. This might include:

  • Getting regular activity to further develop circulation and metabolism
  • Rehearsing stress decreasing exercises like yoga and contemplation
  • Scheduling a proper sleep timetable to improve hormonal balance
  • Staying away from exposure to environmental toxins and chemicals

Herbal Remedies for PCOS

Ayurveda likewise utilizes various herbal remedies to assist with treating PCOS. These may include:

  • Shatavari:

    A powerful adaptogenic herb that can assist with directing chemicals and work on reproductive health.

  • Ashwagandha:

    Another adaptogenic herb that can assist with reduces stress and further develops energy levels.

  • Guggulu:

    A resin extract that can assist with balancing cholesterol levels and further develop insulin resistance.

  • Triphala:

    A blend of three natural products that can assist with supporting digestion and elimination.

By integrating these Ayurvedic remedies into your PCOS treatment, you can work on your general wellbeing and prosperity while reducing side effects and improving hormonal balance.

Conclusion

With a customized treatment plan that takes into account your different necessities and side effects, we can help you with restoring balance to your body and accomplish ideal health and health. So reach us today to schedule a consultation and begin your journey towards natural, holistic healing.