इम्‍युनिटी को बढ़ाने के लिए कौन-सी आयुर्वेदिक औषधि है कारगर ?

Approach-For-Immunity
AyurvedicHindi

इम्‍युनिटी को बढ़ाने के लिए कौन-सी आयुर्वेदिक औषधि है कारगर ?

  • August 12, 2023

  • 93 Views

आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज पुरातन समय से ही मिलते चले आ रहा है, इसलिए आज हम इम्युनिटी को बढ़ाने की आयुर्वेदिक औषधि के बारे में बात करेंगे, तो चलिए आज के लेख के माध्यम से जानते है की हम कैसे आयुर्वेदिक औषधि का सहारा लेकर अपनी इम्‍युनिटी को मजबूत कर सकते है ;

क्या है इम्‍युनिटी सिस्टम ?

  • इम्यूनिटी हमारे शरीर को सभी तरह की बीमारियों से लड़ने के लिए शक्ति प्रदान करती है। इसे रोग प्रतिरोधक क्षमता और प्रतिरक्षा भी कहते है। मजबूत इम्यूनिटी न केवल आपको कई शारीरिक समस्याओं से बचाती है, बल्कि संक्रमणों से भी लड़ने में बहुत प्रभावी होती है।
  • इम्यून सिस्टम का मजबूत होना हमारे शरीर के लिए बहुत ही बहुमूल्य है। 
  • इम्युनिटी का मजबूत और स्वास्थ्य रहना हमारे संपूर्ण शरीर के स्वास्थ्य होने की निशानी है।

इम्‍युनिटी सिस्टम के बारे में और विस्तार से जानने के लिए आप बेस्ट आयुर्वेदिक डॉक्टर का चयन भी कर सकते है।

इम्यूनिटी हमारे शरीर में काम कैसे करती है ?

  • सफेद रक्त कोशिकाएं इम्यून सिस्टम के सबसे प्रमुख भागों में से एक है और इन्हें ल्यूकोसाइट्स भी कहा जाता है। ल्यूकोसाइट रक्त और ऊतकों के माध्यम से पूरे शरीर में चक्कर लगाते रहते है और बाहरी पदार्थों, रोगाणुओं और विषाक्त पदार्थों को ढूंढते रहते है। जब भी कोई बाहरी चीज या रोगाणु मिलता है, तो वे इम्यून सिस्टम को आक्रमण का संकेत दे देती है।
  • ल्यूकोसाइट्स आमतौर पर दो प्रकार की होती है, जिन्हें फेगोसाइट्स और लिम्फोसाइट्स कहा जाता है। लिम्फोसाइट्स आगे दो प्रकार की होती है, जिन्हें बी लिम्फोसाइटिस (बी सेल्स) और टी लिम्फोसाइटिस (टी-सेल्स) कहा जाता है।
  • कोई भी चीज जो इम्यून सिस्टम को उत्तेजित करती है, उसे एंटीजन कहा जाता है। इनमें आमतौर पर बैक्टीरिया, वायरस, पैरासाइट, अन्य कोई सूक्षमजीव, केमिकल, विषाक्त पदार्थ या वातावरण में मौजूद अन्य कोई चीज, जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली उत्तेजित हो जाती है, उसे एंटीजन कहा जाता है। इस तरह से हमारे पूरे शरीर में इम्यून सिस्टम बनते है।

इम्यून सिस्टम को बढ़ाने के लिए कौन-सी आयुर्वेदिक औषधियाँ है मददगार ?

  • गिलोय का सेवन करने से भी आपकी इम्युनिटी काफी अच्छी होती है, क्युकि इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट्स प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो कि फ्री-रेडिकल्‍स से लड़ने में मदद करते है और कोशिकाओं को स्‍वस्‍थ एवं बीमारियों से दूर रखते है।
  • योग और प्राणायाम करके भी आप इम्यूनिटी बढ़ा सकते है। बस इसके लिए आपको नियमित रूप से प्राणायाम और योग करना है, क्युकि अगर हम इन दोनों का सहारा लेते है तो हमारे इम्यून सिस्टम पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और शरीर को स्वस्थ रखने में ये मदद भी करते है। बस इम्युनिटी सिस्टम बढ़ाने के लिए आपको रोजाना 15 से 20 मिनट कपालभाति और भस्त्रिका आदि प्राणायाम का अभ्यास करना है। इससे फेफड़े मजबूत बनते है और सांस से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी कम होता है।

अगर आप चाहें तो इन औषधियों का उपयोग बेस्ट आयुर्वेदिक क्लिनिक में जाकर भी करवा सकते है।

सुझाव :

इम्युनिटी कमजोर होने पर आपको समय रहते अपने शरीर का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए और खान-पान की और तो बिलकुल भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।

कमजोर इम्युनिटी सिस्टम के क्या लक्षण नज़र आते है ?

  • बिना वजह थकान। 
  • सर्दी, जुखाम की समस्या का सामना करना। 
  • बिना काम किए शरीर में थकान, सुस्ती और कमजोरी महसूस हो तो समझ जाए की आपकी इम्युनिटी सिस्टम काफी कमजोर है। 
  • पेट संबंधी समस्या अगर हो तो भी आपकी इम्युनिटी सिस्टम काफी कमजोर हो सकता है। 
  • यदि आपके पेट में दर्द, उल्टी, कब्ज और अपच की समस्या हो तो इसका मतलब आपकी इम्युनिटी सिस्टम काफी कमजोर है।

इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए बेस्ट क्लिनिक !

यदि आपके लक्षण काफी गंभीर है इम्युनिटी सिस्टम को लेकर तो इसके लिए आपको संजीवनी आयुर्वेदशाला क्लिनिक का चयन करना चाहिए, ताकि आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाया जा सकें।

निष्कर्ष :

इम्युनिटी का मजबूत होना हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है, क्युकि इसके बिना हमारे शरीर का कोई भी अंग सही से कार्य करने में सक्षम नहीं हो सकता, इसलिए जरूरी है की अगर इसके संबंधित कोई भी लक्षण आपको खुद में नज़र आए तो जल्द डॉक्टर के संपर्क में आए।